sukanya samriddhi yojna 2021

सुकन्या समृद्धि योजना 2022 पूरी जानकारी | sukanya samriddhi yojna full details

सुकन्या समृद्धि योजना 2022 पूरी जानकारी | sukanya samriddhi yojna full details 

सुकन्या समृद्धि योजना भारत सरकार की चर्चित योजनाओं में से एक योजना मानी जाती है। सरकारी योजनाओं में सुकन्या समृद्धि योजना बेटियों के लिए किसी वरदान से कम नहीं है। इस आर्टिकल में हम इस योजना से जुड़े तथ्यों जैसे – सुकन्या समृद्धि योजना क्या है ? कौन इसका लाभ उठा सकता है ? योजना के लिए apply कैसे और कहाँ से करें ? प्रीमियम चार्ट और इंट्रेस्ट रेट क्या है ? 2022  की नई जानकारी क्या है ? योजना का उद्देश्य, पात्रता,दस्तावेज और इसकी विशेषताएं क्या है इसके वारे में सम्पूर्ण जानकारी लेंगे।

Contents hide
1 सुकन्या समृद्धि योजना 2022 पूरी जानकारी | sukanya samriddhi yojna full details

सुकन्या समृद्धि योजना (sukanya samriddhi yojna)क्या है

यह समृद्धि योजना भारत सरकार की एक योजना है जिसके अंतर्गत माता-पिता अपनी बेटियों की शिक्षा और शादी के लिए पैसे जमा करना चाहते हों वो सभी इस योजना के अंतर्गत बचत खाता खोल सकते हैं। यह वर्ष 2015 में 22 जनवरी को प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने सुकन्या समृद्धि योजना का शुभारंभ किया था। इस योजना में बचत खाता किसी भी राष्ट्रीय बैंक या पोस्ट ऑफिस में खोला जा सकता है। इस खाते में न्यूनतम राशि 250 रूपये तथा अधिकतम 1.5 लाख तक जमा हो सकते हैं तथा व्याज दर 8.6 % रहेगी। निश्चित आमदनी के साथ पूँजी की सुरक्षा इस स्कीम की खासियत है साथ ही इनकम टैक्स में छूट का भी इसमें प्रावधान है।

सुकन्या समृद्धि योजना का उद्देश्य 

इस समृद्धि योजना का मुख्या उद्देश्य उन गरीब परिवारों के बेटियों की शिक्षा और शादी के लिए पैसा जोड़ने से है जो एक निश्चित अवधि और निश्चित रकम के साथ जोड़ी जा सकती है। इससे देश की करोड़ो बेटियों का जीवन उज्जवल बनाने में मदद मिलती है। उन परिवारों को भी ये योजना काफी मदद करती है जो काफी निर्धन है और वो अपनी बेटियों के लिये ज्यादा कुछ कर नहीं पाते। न्यूनतम 250 रूपये के साथ इस योजना के तहत बच्चियों के सपनो को उड़ान मिलती है।

कैसे खुलवाएं सुकन्या समृद्धि योजना का खाता 

सुकन्या समृद्धि योजना में खाता खुलवाने के लिए बेटी के 10 साल के पूरे होने से पहले किसी भी राष्ट्रीय बैंक या पोस्ट ऑफिस में कम से कम 250 रूपये की जमा राशि के साथ बेटी के नाम ये खाता खुलवा सकते हो। चालू वित्त वर्ष के दौरान अधिकतम 1.5 लाख रूपये की राशि आप इस खाते में जमा करा सकते हैं। एक योजना में केवल एक बेटी के लिए एक ही खाता खुलवाया जा सकता है। आवेदन के लिए निम्न प्रिक्रिया अपनानी होगी –

 

 

  • सुकन्या समृद्धि योजना में खाता खुलवाने के लिए सबसे पहले आप सुकन्या समृद्धि योजना एकाउंटिंग ओपिनिंग फॉर्म को साइट से डाउनलोड करना होगा।
  • फॉर्म को सही जानकारी के साथ और इसके साथ के दस्तावेजों को सलंग्न करके अपने नज़दीकी पोस्ट ऑफिस या किसी राष्ट्रीय बैंक में जमा करना होगा।
  • इसके बाद राष्ट्रीय बैंक या पोस्ट ऑफिस के अनुसार इस स्कीम के तहत वांछित फॉर्म और पैसों के साथ अकाउंट ओपन करना होगा।
  • इस तरह आप अपना सुकन्या समृद्धि योजना के तहत खता खुलवा सकते हैं।

सुकन्या समृद्धि योजना (sukanya samriddhi yojna) के लिए पात्रता और दस्तावेज 

  1. बेटी की उम्र 10 साल से कम होनी चहिये।
  2. बेटी का बर्थ सर्टीफिकेटे।
  3. आधार कार्ड।
  4. एड्रेस प्रूफ।
  5. माता-पिता को पासपोर्ट साइज फोटो।
  6. राशन कार्ड।
  7. इनकम प्रूफ।

सुकन्या समृद्धि योजना (sukanya samriddhi yojna) की कुछ शर्तें 

सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत कुछ शर्तें है जो निम्न प्रकार से हैं –

  • खाता खुलवाने की आयु बेटी की 10 वर्ष से कम होनी चाहिए।
  • सुकन्या समृद्धि योजना में खाताधारक के 18 साल पूरे न होने तक खाता को खाताधारक के अभिभावक के द्वारा ही संचालित किया जायेगा।
  • एक लड़की के लिए केवल एक ही खाता खोला जाएगा जुड़वाँ होने की स्थिति में अलग-अलग खाता खोला जा सकता है।
  • एक परिवार की दो बेटियां ही इस योजना का लाभ उठा सकती हैं।
  • न्यूनतम खाता खोलने की राशि 250 रूपये है तथा अधिकतम 1.5 लाख रूपये एक वित्तीय वर्ष में जमा कर सकते हैं।
  • 15 साल तक निवेश किया जा सकता है।
  • व्याज दरें –
7.6% per annum
Sukanya Samriddhi Yojana (SSY) मुख्य बातें
Interest Rates7.6% per annum (Q1 FY 2021-22)
Maturity Period21 years or until the girl child marries after the age of 18
Minimum Deposit AmountRs. 250
Maximum Deposit AmountRs. 1.5 Lakh in a financial year
  • सेक्शन 80C के तहत  इस योजना में किया गया निवेश कर मुक्त है।
  • खाताधारक की मत्यु होने पर ये खाता बंद करना होता है।
  • ये खाता समय से पहले बंद कराया जा सकता है।
  • इस योजना में पिछले वित्तीय वर्ष के अंत में उपलब्ध वित्तीय राशि का 50% खाताधारक की शिक्षा के लिए निकला जा सकता है।
  • वित्तीय राशि खाताधारक के 18 वर्ष पूरे होने या उसके 10बी की [परीक्षा उत्तीर्ण होने के बाद ही निकाली जा सकती है।

Prabhatkhabar 2020 07 399a2e26 99a3 4c54 b275 fab499fdf662 EZ S41dU8AA7C3R e1631956816712

सुकन्या समृद्धि योजना 2022 की मुख्य बातें 

समृद्धि योजना मूल्यत बेटियों के भविष्य को ध्यान में रखकर बनायीं गयी है अतः इसकी निम्न विशेषताएं हैं –

  • सुकन्या समृद्धि योजना का अकाउंट किसी भी बैंक या पोस्ट ऑफिस में खुलवाया जा सकता है।
  • एक ही परिवार में अधिकतम दो बच्चों का अकाउंट खुलवाया जा सकता है।
  • कुछ विशेष परिस्थिति जैसे – एक साथ दो बेटियों या तीन बेटियों का जन्म होना में दो से ज्यादा अकाउंट खोले जा सकते हैं।
  • इस योजना में एक वित्त वर्ष में न्यूनतम 250 रूपये और अधिकतम 1.5 लाख रूपये तक जमा कराये जा सकते हैं।
  • योजना में 7.6% व्याज दर के साथ व्याज निर्धारित है।
  • इनकम टैक्स में छूट और इस योजना से मिलने वाला रिटर्न भी इनकम टैक्स के दायरे से बाहर है।
  • 18 वर्ष पूर्ण होने या बेटी के 10वीं पास होते ही 50% रकम निकाली जा सकती है।
  • 10 वर्ष से कम आयु की बच्चियों के लिए ये योजना का प्रावधान है।
  • खाताधारक के अकाउंट का संचालन खाताधारक के 18 वर्ष या 10वीं पास तक उसके माता-पिता या गार्डियन के हाथों में रहेगा।
  • इस योजना के अंतर्गत जमा किये गए पैसों को दुगुना होने में 9.4 वर्ष लगेंगे।
  • इस योजना में अकाउंट के ट्रांसफर की सुभीधा दी जाती है।
  • राशि को ऑनलाइन भी जमा कराया जा सकता है।
  • खाताधारक की मृत्यु के बाद योजना को बंद कराया जा सकता है और जो भी राशि उस वक़्त होगी वो व्याज के साथ परिवार को दी जाती है।
  • इस योजना में 15 साल तक निवेश किया जा सकता है।
  • इस योजना के अंतर्गत 5वें दिन के क्लोजिंग और महीने के बीच खाते में उपलब्ध सबसे कम रकम पर व्याज की कैलकुलेशन की जाती है।

 

 

सुकन्या समृद्धि योजना(sukanya samriddhi yojna) में किये गए बदलाव 

सुकन्या समृद्धि योजना (sukanya samriddhi yojna) में कुछ वदलाब किये गए हैं जो पहले नहीं थे जो अब निम्न हैं –

 दो से अधिक अकाउंट खोलना 

ये बदलाव इसलिए आया क्योंकि अगर किसी परिवार में twins या ट्रिप्पल बच्चियों ने जन्म लिया तो उसका निर्धारण कैसे किया जाये। अतः विशेष परिस्थियों में एक परिवार से दो से अधिक अकाउंट खोलने की इजाजत मिली पर उसके लिए बेटियों का जन्म प्रमाण पत्र और एक हलफनामा भी देना होगा। तब ही आप इस योजना का लाभ उठा पाएंगे।

अकाउंट का संचालन

सरकार के नए नियमों के अनुसार खाताधारक के 18 वर्ष आयु के न पूर्ण होने तक खाताधारक के अकाउंट का संचालन उसके माता-पिता या उसका गार्डियन के द्वारा किया जायेगा। पहले नियमों के अनुसार ये आयु 10 वर्ष की थी। 18 वर्ष के बाद खाताधारक अपने खाते का संचालन खुद कर सकती है।

डिफ़ॉल्ट अकाउंट 

यदि कोई व्यक्ति इस योजना के अंतर्गत अकाउंट में एक वित्तीय वर्ष में इसकी न्यूनतम राशि 250 रूपये जमा नहीं करा पता है तो ये अकाउंट डिफ़ॉल्ट अकाउंट कहलायेगा। ऐसे में इस तरह के डिफ़ॉल्ट अकाउंट में जमा राशि पर वही इंट्रेस्ट दिया जयेगा जो इस योजना के तहत दिया गया था। डिफ़ॉल्ट खाते को 15 साल के अंदर किसी भी समय उस वित्तीय वर्ष के 250 रूपये और 50 रूपये पेनलिटी के साथ दुबारा से revive कराया जा सकता है।

प्रीमैच्योर अकाउंट क्लोज करना 

नए नियम के अनुसार यदि किसी दुर्घटनावश खाताधारक की मर्त्यु या जानलेवा बीमारी या उसके गार्जियन या माता-पिता जो उस पॉलिसी का संचालन कर रहा था उसकी मृत्यु की स्थिति में इस योजना के अकाउंट को इसके मैच्योरिटी से पहले बंद कराया जा सकता है। इसके बाद उसके परिवार को उस टाइम तक की रकम के साथ व्याज भी उपलब्ध करायी जाएगी।

सुकन्या समृद्धि योजना के व्याज दरों में बदलाव 

सुकन्या समृद्धि योजना 2019 Calculator (sukanya samriddhi yojna)

योजना सितम्बर 2021 तक व्याज़ दर –

अवधि व्याज़ दर
From 1st January 2020 to 31st March 20208.4% per annum
From 1st April 2020 to 30th June 20207.6% per annum
From 1st July 2020 to 30th September 20207.6% per annum
From 1st October 2020 to 31st Till Now7.6% per annum

सुकन्या समृद्धि योजना 2019 की व्याज़ दर कुछ इस तरह थी  –

अवधि व्याज़ दर 
From 1st January 2019 to 31st March 20198.5% per annum
From 1st April 2019 to 30th June 20198.5% per annum
From 1st July 2019 to 30th September 20198.4% per annum
From 1st October 2019 to 31st December 20198.4% per annum

निष्कर्ष 

सुकन्या समृद्धि योजना भारत सरकार की एक बहुत ही अच्छी योजना है जिसमे बच्चियों की शिक्षा और शादी के होने वाले खर्चे को ध्यान में रखकर बचत खाते के रूप में प्रधानमंत्री ने लाखों और करोड़ो बेटियों का भविष्य उज्जवल किया है। अब तक इस योजना से लाखों बच्चियों का उत्थान हुआ है और आगे भी हो रहा है। इस योजना के द्वारा ग़रीब परिवारों की बच्चियों की शादी और शिक्षा की प्रॉब्लम खत्म की है। जिसके कारण ही भ्रूड़ हत्या जैसी सोच को ख़त्म करने में मदद मिली है। इस योजना का आप भी लाभ उठा सकते है।

FAQ (sukanya samriddhi yojna)

 

Q. सुकन्या समृद्धि योजना में तीन महिने उम्र की बच्ची का खाता खुल सकता है।

Ans. जी हाँ, आप अपनी पुत्री के 10 साल के होने से पहले आप इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।

 

अगर आपको ये आर्टिकल अच्छा लगा है तो आप और भी आर्टिकल पढ़ सकते है –

म्यूच्यूअल फंड्स क्या है ? इंडिया के टॉप परफार्मिंग म्यूच्यूअल फंड्स

मुद्रा लोन कैसे प्राप्त करें व्याज़ दरें डॉक्युमेंट्स और सब्सिड़ी डिटेल्स

रियल स्टेट बिज़नेस क्या है पूरी जानकारी। प्रॉपर्टी डीलर कैसे बनें।

 

Leave a Reply

Instagram
Telegram
Scroll to Top